विज्ञप्ति चतुर्थ सृजन श्री अलंकरण- 2022 हेतु आयोजित – सृजन परंपरा गीत की ‘गीत सृजन प्रतियोगिता’

पत्रांक:- अ16/क21/287
दिनांक- 01/01/2022

विज्ञप्ति
चतुर्थ सृजन श्री अलंकरण- 2022
हेतु आयोजित
सृजन परंपरा गीत की
गीत सृजन प्रतियोगिता

प्रथम-चरण
अष्टम्-माह:- (जनवरी- 2022)
जनवरी माह का विषय:- खुशबू
गीत भेजने की अंतिम तिथि:- 20 जनवरी 2021

मूल्यांकन समिति अध्यक्ष-
डॉ. अजिर बिहारी चौबे
(मनोविज्ञान विभागाध्यक्ष)
एस.आर.के. स्नातकोत्तर महाविद्यालय
फिरोजाबाद

नोट:- गीत में खुशबू शब्द के अविधा, लक्षणा अथवा व्यंजना किसी भी अर्थ को आधार बनाया जा सकता है।

अपनी प्रविष्टि अपने नाम,पता (पिनकोड सहित) तथा मोबाइल नंबर अनिवार्य रूप से लिखकर केवल निम्नलिखित मेल आई डी पर ही प्रेषित करें।👇🏿

srajanshrialankaran@gmail.com

नोट- पूर्व में सृजन श्री अलंकरण प्राप्त गीतकारों एवं वर्तमान चरण के प्रथम, द्वितीय, तृतीय,चतुर्थ, पंचम,छठे तथा सप्तम माह के विजेताओं के अतिरिक्त कोई भी गीतकार इस माह की प्रतियोगिता में प्रतिभागिता कर सकता है। इसके अतिरिक्त किसी प्रकार का कोई बंधन नहीं है।

पूर्व में सृजन श्री से अलंकृत गीतकार
प्रथम सृजन श्री अलंकरण -2019
श्रीमती अंकिता कुलश्रेष्ठ , प्रयागराज

द्वितीय सृजन श्री अलंकरण – 2020
श्री शिवराम “शान्ति” , बाह,आगरा

तृतीय सृजन श्री अलंकरण – 2021
श्री सतीश मधुप घिरोर, मेनपुरी

प्रतियोगिता का विस्तृत परिचय
4 जून 2020 सको सुमधुर कंठ के धनी लखनऊ निवासी कवि देवल आशीष की 7वीं पुण्यतिथि से प्रारम्भ सुकवि मथुरा प्रसाद “मानव” स्मृति सृजन श्री अलंकरण हेतु आयोजित ” सृजन परंपरा गीत की” प्रतियोगिता का विस्तृत परिचय इस प्रकार है ….
नियम व शर्तें-
प्रतियोगिता तीन चरणों मे पूर्ण होगी।
प्रथम चरण
(१) प्रारम्भ जून माह से होगा।
(२) गीत सृजन हेतु प्रत्येक माह की 1 तारीख को एक विषय/चित्र/ऑडियो/वीडियो दिया जा जा सकता है, जिसे आधार बनाकर उसी माह की २० तारीख तक दिए गए विषय पर गीत प्रेषित करना होता है।
(३) २१ तारीख से प्राप्त रचनाओं का मूल्यांकन प्रारंभ होता है तथा परिणाम, माह की अंतिम तारीख को ट्रस्ट के फेसबुक पेज एवं ट्रस्ट की बेबसाइट पर घोषित किया जाता है, जिसमें उस माह के श्रेष्ठ तीन रचनाकारों के नाम की घोषणा की जाती है।
(४) प्रथम चरण १० माह ( मार्च ) तक चलेगा।
(५) प्रत्येक माह में विजेता रहे रचनाकार सीधे द्वितीय चरण में प्रतिभाग कर सकेंगे।

द्वितीय चरण
(१) द्वितीय चरण अप्रैल माह में आयोजित होगा, जिसमें पिछले १० माह के विजेता ही प्रतिभाग कर सकेंगे।
(२) द्वितीय चरण में १० या ११ रचनाकार चयनित किये जायेंगे जो कि तृतीय चरण में प्रतिभाग कर सकेंगे।

तृतीय चरण
(१) यह प्रतियोगिता का अंतिम चरण है, जिसमें द्वितीय चरण के विजेता रहे १० या ११ प्रतिभागी ही प्रतिभाग कर सकेंगे।
(२) इस चरण में प्रथम स्थान प्राप्त रचनाकार को ट्रस्ट द्वारा आयोजित राष्ट्र स्तरीय प्रज्ञा सम्मान समारोह में रु ११०००/- की धनराशि सम्मान पत्र, श्रीफल, उत्तरीय आदि के साथ ही सुकवि मथुरा प्रसाद मानव स्मृति सृजन श्री अलंकरण प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा।
(३) द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहे रचनाकारों को उप-विजेता के रूप में क्रमशः ₹ ११०० तथा ₹१००० तथ अन्य सम्मान सामग्री प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा तथा तृतीय चरण के शेष सभी प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार के रूप में सम्मान-पत्र भेंट किये जाएँगे।

विशेष-
1- ‘सृजन श्री अलंकरण’ प्राप्त रचनाकार पुनः इसी प्रतियोगिता में प्रतिभाग नहीं कर सकेगा।
2- प्रतियोगिता में किसी भी प्रकार का आयु बंधन नहीं है।
3- प्रतियोगिता में दिए गए विषय पर केवल गीत ही स्वीकार्य होगा।
4- एक रचनाकार द्वारा, दिए गए विषय पर केवल एक ही गीत स्वीकार्य है।
……………………………………………… धन्यवाद।

 

. प्रेषक
प्रतियोगिता संयोजक/सह सचिव
ऋतेश मुकेश “सुमन”
8273297695

प्रतियोगिता प्रभारी/उपाध्यक्ष
प्रवीण कुमार पाण्डेय ‘प्रज्ञार्थू’
8218725186

साहित्य संयोजक
कुँ. राघवेन्द्र प्रताप सिंह जादौन
9897807132

व्यवस्था प्रमुख
आकाश यादव
8791937688

सचिव
गौरव चौहान “गाफिल”
9084622239

अध्यक्ष
अभिषेक मित्तल “क्रांति”
8193950555

प्रबंधक/सचिव
कृष्ण कुमार “कनक”
7017646795

इस सूचना/ समाचार को साझा करें

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp